former south africa pacer dale steyn applauds jasprit bumrahb bowling and yorkers india vs england test series | ‘दुनिया में कोई ऐसा गेंदबाज नहीं…’, बुमराह की बॉलिंग का कायल हुआ साउथ अफ्रीकी दिग्गज



Dale Steyn Statement: महान तेज गेंदबाज डेल स्टेन का कहना है कि भारतीय स्टार जसप्रीत बुमराह ने अपने कठिन गेंदबाजी एक्शन, दमदार यॉर्कर और तेज रफ्तार से पिच को गेंदबाजी के समीकरण से बाहर कर दिया है. साउथ अफ्रिका के इस पूर्व दिग्गज ने यह भी माना कि मौजूदा समय में टेस्ट क्रिकेट में यॉर्कर पर विकेट लेने वाला कोई गेंदबाज नहीं है. बता दें कि बुमराह इंग्लैंड के खिलाफ जारी टेस्ट सीरीज में घातक गेंदबाजी कर रहे हैं. अब तक हुए दो मैचों में उन्होंने इंग्लैंड के बल्लेबाजों को सरप्राइज करते हुए अच्छी-खासी परेशानी में डाला है.
स्टेन ने बुमराह की तारीफ में पढ़े कसीदेबुमराह ने विशाखापत्तनम में इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट में भारत को शानदार जीत दिलाई, जिससे मेजबान टीम पांच मैच की सीरीज 1-1 से बराबर करने में सफल रही. स्टेन ने भारतीय पिचों पर भी लगातार विकेट लेने वाली यॉर्कर गेंद फेंकने की काबिलियत के लिए बुमराह की तारीफ करते हुए कहा कि वह महानता का दर्जा हासिल करने की ओर बढ़ रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि इस समय कोई टेस्ट गेंदबाज है जो विकेट लेने वाले यॉर्कर डालने में सक्षम हो.’ 
‘बहुत कम गेंदबाज हैं ऐसे’
सनराइजर्स ईस्टर्न केप टीम के गेंदबाजी कोच स्टेन ने केपटाउन में SA20 खिताबी भिड़ंत की से पहले भारतीय मीडिया से बातचीत में कहा, ‘टेस्ट मैच में विकेट लेने के लिए शायद कुछ एक गेंदबाज हैं जो ऐसा कर सकते हैं. ट्रेंट बोल्ट उनमें से एक थे और शायद मिचेल स्टार्क और निश्चित रूप से बुमराह. हर तरह से वह (बुमराह) एक शानदार गेंदबाज है और यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि उसके धीमे एक्शन से उसे यह हासिल हुआ है. वह उन अनुकूल पिचों पर विकेट लेता है, इसलिए वह शानदार है.’
भारत के पास अच्छे गेंदबाज
डेल स्टेन ने आगे कहा, ‘एक भारतीय खिलाड़ी होने के नाते, काम का बोझ बहुत होगा. भारत बहुत अधिक क्रिकेट खेलता है, वे दुनिया में अत्यधिक मांग वाली टीमों में से एक हैं. ऐसा लगता है कि भारत को वास्तव में उनकी कमी नहीं खलती, क्योंकि बाकी गेंदबाज भी बेहतरीन हैं. यह भारतीय क्रिकेट के लिए बहुत बड़ा क्रेडिट है. मुझे लगता है कि अच्छे टेस्ट गेंदबाज ही अच्छे टी20 गेंदबाज बनते हैं. उनके पास इस मामले में अच्छा कौशल है कि कब गति में बदलाव करना है, कब धीमी गेंद का उपयोग करना है, कब अपने बाउंसर का उपयोग करना है.’



Source link