england head coach brendon mcCullum said his team will find the option to face jasprit bumrah | अकेले बुमराह ने इंग्लैंड टीम में फैला दिया खौफ, अब निपटने के रास्ते ढूंढ रहे अंग्रेज



Brendon McCullum: जसप्रीत बुमराह ने दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में शानदार स्पैल से इंग्लैंड के बल्लेबाजों को परेशान किया, लेकिन टीम के मुख्य कोच ब्रेंडन मैकुलम को उम्मीद है कि उनके खिलाड़ी इस अनुभवी भारतीय तेज गेंदबाज के खतरे से निपटने का कोई रास्ता निकालेंगे. बुमराह ने दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में 45 रन पर छह विकेट चटकाकर अपने अति-आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाने जाने वाले इंग्लैंड को बैकफुट पर धकेल दिया था. इंग्लैंड की पहली पारी महज 253 रन पर सिमट गई थी. न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान मैकुलम खिलाड़ी के तौर पर खुद भी आक्रामक बल्लेबाजी करते थे. 
हेड कोच ने दिया बयान मैकुलम से जब सीरीज के आगामी तीन मैचों में जब बुमराह से निपटने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनकी टीम सिद्धांतों पर विश्वास नहीं करती, लेकिन वे इसका तरीका ढूंढने की कोशिश करेंगे. मैकुलम ने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ से कहा, ‘हम वास्तव में सिद्धांतों पर काम नहीं करते हैं. हम यह सुनिश्चित कर रहे है कि हमारे खिलाड़ी मौजूदा समय में रहे और वे अपने तरीके पर भरोसा करें. वे इस मामले में मुझसे कहीं बेहतर हैं और वे इस पर काम करेंगे कि इससे निपटने का सबसे अच्छा तरीका क्या है.’ 
‘जसप्रीत की करनी होगी तारीफ’ 
इंग्लैंड के हेड कोच ने कहा, ‘इस बारे में उनका तरीका बिलकुल अलग हो सकता है.  हम देखेंगे कि हम क्या हासिल कर पाते हैं. अभी के लिए हमें जसप्रीत की तारीफ करनी होगी और कहना होगा कि वह स्पैल (दूसरे टेस्ट की पहली पारी में)  बेहद ही शानदार था.’ बुमराह के टैलेंट की तारीफ करते हुए कहा मैकुलम ने कहा, ‘उसके पास हर परिस्थिति में गेंदबाजी करने की काबिलियत है. गेंद जब स्विंग होती है तो वह ज्यादा खतरनाक होता है. वह कमाल का गेंदबाज है. वह अपनी तरह का इकलौता गेंदबाज है और हवा से काफी स्विंग हासिल करता है.’ 
‘शानदार गेंदबाज हैं बुमराह’
मैकुलम ने बुमराह को एक शानदार गेंदबाज बताते हुए कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं कि वह बहुत अच्छा गेंदबाज है, लेकिन हमने पिछले 18 महीनों में बहुत अच्छे गेंदबाजों का सामना किया है. उनका मुकाबला करने के तरीके ढूंढे हैं और इस बार भी हमें यही करना है.’ मैकुलम ने कहा कि दो टेस्ट मैचों के बाद 1-1 का स्कोर इस बात का स्पष्ट संकेत है कि हम सीरीज में जिंदा हैं. उन्होंने कहा, ‘हमने पिछले दो टेस्ट मैचों में काफी अच्छी क्रिकेट खेली है. हां, हम दूसरे टेस्ट में हारे, लेकिन पहले मैच को जीतने में सफल रहे थे.’ 
अबुधाबी लौटी इंग्लैंड टीम
विशाखापत्तनम में दूसरे टेस्ट के बाद इंग्लैंड की टीम अबुधाबी वापस चली गई. वे 15 फरवरी से शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट से पहले 12 फरवरी को राजकोट पहुंचेंगे. मैकुलम ने कहा कि अबुधाबी में इस बार टीम के लिए उस तरह का सेशन नहीं होगा जैसा कि भारत दौरे की शुरुआत से पहले हुआ था. उन्होंने कहा, ‘वहां पर पूरे समय अभ्यास नहीं होगा. हमारे खिलाड़ियों ने कड़ी मेहनत की थी और उसके बाद ही भारत पहुंचे थे. दो अलग-अलग टेस्ट मैच थे और हमारे लिए यह गर्मी से दूर जाने का एक अवसर है. मैं राहुल द्रविड़ से बात कर रहा था और उन्होंने बताया कि उनके सभी खिलाड़ी अपने घर जा रहे हैं. हमारे लिए घर थोड़ा दूर है, इसलिए हमने अबुधाबी को चुना और हम परिवार के साथ आनंद लेंगे. फिर जब हम राजकोट पहुंचेंगे तो हम कड़ी मेहनत करेंगे.’
(एजेंसी इनपुट के साथ)



Source link