Dental Health: ignoring toothache can be dangerous know its serious consequences | Dental Health: दांत में दर्द को नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी, जानें इसके गंभीर परिणाम



दांत में दर्द होना एक आम सी बात लगती है, लेकिन इसे नजरअंदाज करना आपकी ओरल और नॉर्मल हेल्थ के लिए गंभीर परिणाम ला सकता है. दांत में किसी भी तरह की तकलीफ को अनदेखा करना आगे चलकर कई समस्याओं का कारण बन सकता है, क्योंकि यह अक्सर मुंह में किसी गड़बड़ी का संकेत होता है. दांत दर्द को नजरअंदाज करने के गंभीर परिणाम हो सकते हैं, जो दांतों को नुकसान से लेकर पूरे शरीर में संक्रमण और आर्थिक बोझ तक फैल सकते हैं.
दांत दर्द को नजरअंदाज करने का एक तत्काल खतरा दांतों के सड़ने का बढ़ना है. दांत दर्द अक्सर कैविटी या दंत क्षय से जुड़ा होता है, जो तब होता है जब बैक्टीरिया दांतों की बाहरी सुरक्षा परत, इनेमल को नष्ट कर देते हैं. इलाज न कराए जाने पर, सड़न गहरी परतों तक पहुंच जाती है, जहां नसों और ब्लड वेसल्स का जाल होता है. इसका नतीजा होता है तेज दर्द, संक्रमण और प्रभावित दांत का खोना.एक्सपर्ट का बयानपुणे के रूबी हॉल क्लिनिक में प्रोस्थोडॉन्टिस्ट डॉ. सचीव नंदा कहते हैं कि अनदेखा किया गया दांत दर्द मसूड़ों की बीमारी को भी बढ़ावा दे सकता है, जो दांतों को सहारा देने वाली संरचनाओं को प्रभावित करता है. मसूड़ों में सूजन और खून आना मसूड़े की बीमारी के शुरुआती संकेत हैं. अगर इसका इलाज नहीं किया गया, तो यह पीरियडोंटाइटिस की ओर बढ़ सकता है, जिससे मसूड़ों और हड्डियों को स्थायी नुकसान होता है. गंभीर मसूड़ों की बीमारी दांतों के झड़ने का एक प्रमुख कारण है और इसे दिल की बीमारी और डायबिटीज जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से भी जोड़ा गया है.
नजरअंदाज करना पड़ेगा भारीदांत दर्द को नजरअंदाज करने से कोई भी मौजूदा संक्रमण फैल सकता है. दांतों में फोड़े के मामले में मवाद की थैली बन सकती है, जिससे सूजन, बुखार और संक्रमण के खून के फ्लो में प्रवेश करने पर संभावित दिक्कतें हो सकती हैं. दांत के संक्रमण का इलाज न किया जाए तो यह मुंह से आगे बढ़कर महत्वपूर्ण अंगों और पूरी सेहत को प्रभावित कर सकते हैं.
खाने, बोलने और सोने में होती है दिक्कतलगातार दांत दर्द अक्सर पुराने दर्द और बेचैनी का कारण बनता है, जो किसी व्यक्ति के जीवन की क्वालिटी को प्रभावित करता है. खाने, बोलने और यहां तक ​​कि सोने जैसी सरल चीजें भी मुश्किल हो सकती हैं, जिससे डेली रूटीन में बाधा आती है. शारीरिक और मानसिक सेहत पर लगातार दबाव इस बात को दर्शाता है कि दांत दर्द का तुरंत इलाज करना कितना महत्वपूर्ण है.
पूरी सेहत पर पड़ता है असरमेडिकल कम्युनिटी द्वारा ओरल हेल्थ और ओवरऑल हेल्थ के बीच संबंध को तेजी से पहचाना जा रहा है. दांत दर्द को नजरअंदाज करना दिल की बीमारी, सांस संक्रमण और प्रेग्नेंसी के दौरान समस्याओं सहित शरीर की कई दिक्कतों को बढ़ा सकता है. मुंह के बैक्टीरिया खून के फ्लो में प्रवेश कर सकते हैं, जिससे दूर के अंगों में सूजन हो सकती है. हेल्दी मुस्कान को बनाए रखने के लिए नियमित दंत चेकअप, अच्छी ओरल हाइजीन आदतें और किसी भी तरह की तकलीफ के संकेतों का तुरंत इलाज करना बहुत जरूरी है.



Source link