uday saharan bold statement ahead of under 19 world cup final does not matter who will play australia or pak | ‘ऑस्ट्रेलिया हो या पाकिस्तान फर्क नहीं पड़ता…,’ खिताबी मैच से पहले भारतीय कप्तान की दहाड़



Uday Saharan Statement: लगातार पांचवीं बार अंडर 19 वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंची भारतीय टीम के कप्तान उदय सहारन ने इसका श्रेय खिलाड़ियों को दिया है. कप्तान ने आपसी तालमेल पर बात करते हुए कहा है कि फाइनल में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करके उनकी टीम इतिहास में नाम दर्ज कराने के लिए उत्सुक है. भारत का अंडर19 वर्ड कप में दबदबा इसी बात से साबित होता है कि पिछले 9 में से 7 बार टीम इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची है. हर बार किसी न किसी खिलाड़ी ने जिम्मेदारी लेकर टीम को जीत तक पहुंचाया है.
कप्तान ने अच्छे प्रदर्शन का खोला राज सहारन ने फाइनल मुकाबले से पहले टीम के अभ्यास सेशन के दौरान कहा, ‘हमारी टीम के अच्छे प्रदर्शन का राज आपसी तालमेल है. हमारी बोंडिंग इतनी अच्छी है कि ड्रेसिंग रूम का माहौल बहुत दोस्ताना है. सभी एक दूसरे पर भरोसा करते हैं और एक दूसरे की मदद को तत्पर रहते हैं. इसी से प्रदर्शन ग्राफ लगातार अच्छा रहा है.’ श्रीगंगानगर से निकले इस खिलाड़ी ने कहा, ‘बहुत गर्व की बात है कि हम लगातार 5वीं बार फाइनल में पहुंचे हैं. भारत का टूर्नामेंट में इतना दबदबा रहा है. हमारे सभी खिलाड़ी लय में हैं और अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं.’ 
ऑस्ट्रेलिया हो या पाकिस्तान…
अब तक टूर्नामेंट में 6 मैचों में सर्वाधिक 389 रन बना चुके सहारन ने कहा, ‘फाइनल में सामने आस्ट्रेलिया हो या पाकिस्तान , फर्क नहीं पड़ता. हम विरोधी टीम पर फोकस नहीं कर रहे और अपने खेल पर ध्यान दे रहे हैं. हमने मैच दर मैच रणनीति बनाई है और हर मैच को अच्छा खेल रहे हैं.’ यह पूछने पर कि आस्ट्रेलिया के खिलाफ क्या बदला दिमाग में होगा, क्योंकि सीनियर टीम पिछले साल ODI वर्ल्ड कप फाइनल उससे हारी थी. सहरन ने कहा, ‘ऐसा कुछ नहीं सोच रहे हैं . हम अपने खेल पर फोकस कर रहे हैं और हमें अपना सर्वश्रेष्ठ देना है. मैच हालात के हिसाब से खेल रहे हैं. हर मैच महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह वर्ल्ड कप है और सारी टीमें अच्छी हैं.’ 
दबाव पर बोले सहारन 
अंडर 19 वर्ल्ड कप ने भारत को मोहम्मद कैफ, विराट कोहली, शुभमन गिल, रविंद्र जडेजा जैसे शानदार खिलाड़ी दिए हैं. सहारन से अतिरिक्त दबाव महसूस करने पर जब पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘मैं इस बारे में कभी सोचता ही नहीं हूं. अतीत के बारे में सोचता नहीं हूं. सिर्फ इतना सोचता हूं कि अपना सर्वश्रेष्ठ टीम के लिए कैसे दे सकता हूं और टीम से सर्वश्रेष्ठ कैसे निकाल सकता हूं.’ 
सेमीफाइनल की पारी पर भी बोले 
साउथ अफ्रीका के खिलाफ सेमीफाइनल में 245 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए एक समय भारत के चार विकेट 32 रन पर गिर गए थे लेकिन इसके बाद टीम को संकट से निकालते हुए सहारन ने सचिन धास (96) के साथ पांचवें विकेट के लिये रिकॉर्ड 171 रन की साझेदारी करके जीत दिलाई. उस पारी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘मेरे पापा ने सिखाया है कि जितना हो सके लंबे समय तक टिके रहना है. मैच को फिनिश करना है और मैं कोशिश करता हूं कि अंत तक जिम्मेदारी निभाऊं. टीम को जीत तक लेकर जाऊं.’ 
प्रेशर मैनेज करना आता है
उन्होंने कहा, ‘हम बहुत दबाव वाले मैच खेल सकते हैं. हम बहुत कड़ा अभ्यास करते हैं और दबाव के हालात में भी अभ्यास करते हैं. जैसी जरूरत है, वैसा ही अभ्यास करते हैं और फोकस इसी पर रहता है कि मैदान पर उस पर अमल करें. मुझे कुछ अलग से करना ही नहीं पड़ता  मैं वैसे भी बहुत कूल रहता हूं. कभी कभार मैच में तनाव होता है, लेकिन दिमाग चलते रहना जरूरी है और मुझे लगता है कि मैं अभी सही कर रहा हूं और आगे भी ऐसा ही करूंगा.’ 
गिल से मिली प्रेरणा 
गिल से उन्हें प्रेरणा मिली, लेकिन उनके फेवरिट विराट कोहली हैं जिनसे वह जल्दी ही मिलना चाहते हैं. सहारन ने कहा, ‘फाजिल्का से शुभमन गिल भी हैं जो अंडर 19 से ही निकले हैं और काफी प्रेरित करते हैं . मेरा भी शुरू से लक्ष्य था कि अपने देश को गौरवान्वित करना है.’ बता दें कि गंगानगर से पंजाब के सीमावर्ती कस्बे फाजिल्का में सहारन का परिवार आया जहां से भारत के धुरंधर क्रिकेटर शुभमन गिल भी हैं.  
कोहली हैं फेवरेट 
सहारन ने बताया, ‘विराट कोहली मेरे फेवरेट हैं, क्योकि उनका जुनून और खेल जबर्दस्त है. खेल से उनका लगाव, जोश और जीतने की ललक प्रेरित करती है. कभी मिला नहीं हूं, लेकिन टीम वीडियो कॉल पर बात हुई है. उनसे मिलना चाहता हूं.’ उन्होंने फाइनल से पहले देशवासियों से कहा, ‘हमारे लिए यह टूर्नामेंट जीतना बहुत बड़ी बात है. हर किसी को एक ही वर्ल्ड कप मिलता है और हम इतिहास को दोहराना चाहते हैं. अपना नाम भी इतिहास में दर्ज करना चाहते हैं. हम नतीजे के बारे में नहीं सोच रहे, लेकिन अपना सर्वश्रेष्ठ देने पर फोकस है. देशवासियों से कहूंगा कि ऐसे ही सहयोग करते रहे. हम अपनी पूरी जान लगा देंगे ताकि कप वापिस लेकर आएं.’
(एजेंसी इनपुट के साथ)



Source link