मां को ताउम्र रहेगा बेटी का इंतजार, आखिरी बार फोन पर बात कर बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी की छात्रा ने किया सुसाइड



अश्वनी कुमार

झांसी: बुंदेलखंड विश्वविद्यालय परिसर के अंदर बने गर्ल्स छात्रावास में छात्राओं के सुसाइड करने के मामले लगातार देखने को मिल रहे हैं. एक बार फिर बीटेक थर्ड ईयर की छात्रा ने अपने कमरे में फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया. सुसाइड करने वाली मृतक छात्रा गोरखपुर जिले की रहने वाली थी, जो पिछले 3 साल से बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी कैंपस में बने छात्रावास में रह रही थी. छात्रा के सुसाइड करने की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच पड़ताल में जुट गई.

बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी कैंपस के अंदर छात्रा के सुसाइड करने की जानकारी होने पर मौके पर झांसी रेंज के डीआईजी जोगेंद्र कुमार जिले के एसएसपी राजेश के साथ विश्वविद्यालय के कैंपस में बने गर्ल्स छात्रावास पहुंचे. डीआईजी और एसएसपी के साथ विश्वविद्यालय के कुलपति मुकेश पांडे ने मृतक छात्रा के कमरे का बारीकी से मुआयना किया.

वहीं मृतक छात्रा के कमरे का मुआयना करने के बाद रेंज के डीआईजी जोगिंदर कुमार का कहना है कि छात्रा के कमरे से कुछ कागजात मिले हैं. इसके अलावा कुछ दवाइयों के पर्चे मिले हैं. उन सब को कब्जे में ले लिया गया है. साथ ही छात्रा का मोबाइल भी पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर पूरे मामले की जांच की तह में जाकर मामले के खुलासे के लिए आदेश दिए हैं.

मां से हुई थी आखिरी बार बातबीटेक थर्ड ईयर की छात्रा सृष्टि राय की मां का कहना है कि रात 11 बजे उसकी अंतिम बार सृष्टि से फोन पर बात हुई थी. इसके बाद दोबारा सुबह बेटी को फोन लगाया. लेकिन सृष्टि ने फोन नहीं उठाया तो पूरे मामले की जानकारी छात्रावास के वार्डन को दी. वहीं मां की सूचना पर जैसे ही छात्रावास की वार्डन दूसरी छात्राओं के साथ सृष्टि के कमरे पर पहुंची. कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था. वार्डन ने छात्रावास के गार्डों को बुलाकर गेट तोड़वाया. जैसे ही सभी कमरे में अंदर गए तो देखा कि सृष्टि फांसी के फंदे पर लटकी मिली. इस पूरे घटनाक्रम को देखकर छात्रावास परिसर में हड़कंप मच गया.

छात्राओं ने कहा बहुत रिजर्व रहती थी सृष्टिवहीं छात्रा श्रष्टि राय के साथ पढ़ने वाली छात्राओं का कहना है कि, सृष्टि पढ़ने में बहुत अच्छी थी. ज्यादा किसी से मिलती-जुलती नहीं थी. सृष्टि के परिवार के लोग भी काफी अच्छे हैं. सृष्टि की पारिवारिक स्थिति भी खराब नहीं थी. बावजूद इसके आखिर सृष्टि ने सुसाइड जैसा सनसनीखेज कदम क्यों और किन परिस्थितियों में उठाया इसके बारे में कोई जानकारी नहीं.

वहीं सृष्टि के छात्रावास के अंदर कमरे में सुसाइड करने के बाद छात्रावास से छात्राओं के छोड़कर जाने का सिलसिला भी शुरू हो गया है. हालांकि छात्रावास छोड़ने वाली छात्राओं ने छात्रावास छोड़ने का कोई कारण भी नहीं बताया. इधर बुंदेलखंड परिसर में बने गर्ल्स हॉस्टल में छात्रा के सुसाइड करने के मामले में विश्वविद्यालय के कुलपति मुकेश पांडे का कहना है कि पूरे मामले की गहनता से जांच के आदेश दे दिए गए हैं. आखिर सृष्टि जैसी होनहार लड़की आत्महत्या क्यों करेगी. यह बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के लिए भी बड़ी चुनौती है. हालांकि इस पूरे मामले में अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी

सवालों के घेरे में बुंदेलखंड विश्वविद्यालयबुंदेलखंड कैंपस के अंदर बने गर्ल्स छात्रावास परिसर के अंदर छात्राओं के सुसाइड करने के मामले के बाद अब छात्रावास की सुरक्षा व्यवस्था बड़े सवालों के घेरे में आ गई है. छात्रावास परिसर के अंदर लड़कियों को किस तरह की सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराई जाती है. इसके अलावा वार्डन स्तर से छात्राओं की किस तरह की देखभाल की जाती है. छात्राओं के व्यवहार पर किस तरह की नजर रखी जाती है. यह सब सवाल बुंदेलखंड प्रशासन पर उठने लगे हैं
ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|Tags: Crime News, Jhansi news, Suicide, Uttar pradesh newsFIRST PUBLISHED : January 19, 2023, 20:24 IST



Source link