Heart health: It is important to keep heart healthy in 30s follow these tips for cardiovascular health sscmp | 30s में दिल का हेल्दी रखना है बेहद जरूरी, हेल्दी हार्ट के लिए अपनाएं ये टिप्स



Heart Health: परिवार की जिम्मेदारी और करियर की टेंशन ने शायद आपको अपने बारे में चिंता करने के लिए बहुत कम समय दिया है. जीवन एक संतुलित कार्य है, लेकिन हमारा स्वास्थ्य हमेशा पहले आना चाहिए. अब दिल को हेल्दी बनाने का समय है. इसका मतलब है एक हेल्दी लाइफस्टाइल जीना, जिसमें स्वस्थ भोजन, बहुत सारी शारीरिक गतिविधि और रात भर की नींद शामिल है. अध्ययनों से पता चला है कि अगर हम उन स्थितियों से बच सकते हैं जो हमें 50 साल की उम्र तक दिल की बीमारी के खतरे में डालती हैं. अच्छी है कि हम इन स्थितियों को कभी विकसित ही ना होने दें.
हाई कोलेस्ट्रॉल, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और धूम्रपान सभी दिल की बीमारी के रिस्क फैक्टर हैं. आपके 20s में हेल्दी और स्मार्ट लाइफस्टाइल ऑप्शन बनाने से आपके दिल का भविष्य काफी हद तक बेहतर हो सकता है. अपने 30s में दिल को हेल्दी बनाए रखने के लिए इन आदतों को अपने डेली रूटीन में शामिल करने के बारे में सोचें.
एक्टिव लाइफस्टाइल अपनाएंशारीरिक रूप से एक्टिव नहीं होना दिल की बीमारी के प्रमुख कारणों में से एक है. अपने वर्कआउट प्लान में दौड़ने, साइकिल चलाने और तैरने जैसी कार्डियो एक्सरसाइज को शामिल करने से आपके दिल की सेहत में सुधार होगा. कार्डियोवास्कुलर वर्कआउट आपकी हार्ट रेट को ऊंचा रखता है, जिससे ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के लेवल में सुधार होता है.
स्वस्थ भोजन करेंस्वस्थ भोजन करने का अर्थ है कि फलों, सब्जियों और साबुत अनाज के साथ-साथ प्रोटीन व डेयरी जैसे फूड से भरपूर पोषक तत्वों के साथ बैलेंस भोजन करना. अधिक वजन बढ़ने से रोकने के लिए स्वस्थ भोजन का आनंद लेने के लिए अभी अपने टेस्ट बड्स को ट्रेंन करें, जो आपके उम्र के रूप में आपके दिल के खतरे को बढ़ा सकते हैं. हार्ट-हेल्दी डाइट बनाए रखने के लिए सोडियम और सैचुरेटेड फैट को कम करना और प्रोसेस्ड मीट व शुगरी ड्रिंक से दूर रहता महत्वपूर्ण है.
धूम्रपान बंद करेंयुवाओं में दिल के दौरे के लिए एक महत्वपूर्ण रिस्क फैक्टर सिगरेट है. यह ब्लड प्रेशर और सूजन को बढ़ाता है जो धमनियों में फैट के जमाव को बढ़ावा देता है. पैसिव स्मोकिंग भी खतरनाक है. धूम्रपान छोड़ने के तुरंत बाद दिल की बीमारी का खतरा कम होने लगता है और एक साल बाद यह 50 प्रतिशत तक कम हो जाता है.
तनाव को दूर रखेंलंबे समय तक तनाव हार्ट रेट और ब्लड प्रेशर में वृद्धि का कारण बनता है जो ऑर्टरी वॉल को नुकसान पहुंचा सकता है. तनाव को मैनेज करने के लिए इन तकनीकों को सीखें-  गहरी सांस लेने वाले व्यायाम, रोजाना मेडिटेशन और हर दिन कुछ ऐसा समय निकालें जिसका आप आनंद लेते हैं.
Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.



Source link