BSF जवान पर चढ़ा एकतरफा प्यार का बुखार, अर्जी लगाने पहुंचा बागेश्वर धाम! डायरी ने खोला राज



शाश्वत सिंह/झांसी: वैलेंटाइन वीक चल रहा है. इन 7 दिनों में अनेकों लोगों का प्यार परवान चढ़ता है. वहीं, कुछ ऐसे भी होते हैं जिनके नसीब में मुकम्मल मोहब्बत नहीं होती. ऐसे ही लोगों के लिए एक गीतकार ने गीत भी लिखा है, “हर किसी को नहीं मिलता यहां प्यार जिंदगी में”. लेकिन, कुछ लोग इस बात को स्वीकार नहीं कर पाते और एकतरफा प्यार में सारी हदें पार करने पर अमादा हो जाते हैं. ऐसी ही एक दिलचस्प कहानी झांसी से सामने आई है.

झांसी में रहने वाले एक बीएसएफ के जवान को जब अपना प्यार मिलता हुआ नहीं दिखा तो वह घर से भाग गया. घरवालों ने ढूंढने की कोशिश की लेकिन वह कहीं नहीं मिला. इसके बाद पुलिस को सूचित किया गया. पुलिस ने गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करने के बाद जवान को ढूंढना शुरू कर दिया.

डायरी ने खोला राजजांच के दौरान ही पुलिस को एक डायरी बरामद हुई. इस डायरी ने बीएसएफ़ जवान के इश्क की पूरी कहानी खोल कर रख दी. जवान ने अपनी मोहब्बत की दास्तान लगभग 73 पन्नों में लिखी थी. इसी कहानी में यह भी लिखा हुआ था कि अब वह जवान कहां जाएगा. पुलिस ने कहानी को फॉलो कर शुरू किया और जवान को बरामद कर लिया.

बागेश्वर धाम में लगाने पहुंचा अर्जीझांसी के गुरसराय थानाक्षेत्र निवासी राहुल( बदला हुआ नाम) बीएसएफ में काम करता है. कुछ दिनों पहले वह छुट्टी पर घर आया था. अचानक एक दिन राहुल अपने घर से लापता हो गया. घर वालों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने हर एंगल से जांच करनी शुरू कर दी. जांच के दौरान ही पुलिस को राहुल का मोबाइल और उसकी डायरी मिली. डायरी में राहुल ने लिखा था कि गांव की ही एक लड़की से वह बहुत प्यार करता है. उसको दिल से चाहता है. लेकिन, लड़की उसके प्यार का जवाब नहीं दे रही है. लड़की भी उससे प्यार करे इसलिए वह बागेश्वर धाम में अर्जी लगाने चला गया था. बागेश्वर धाम जाने की बात भी डायरी में लिखी हुई थी.

परिवार को किया सुपुर्दडायरी को पढ़ते ही पुलिस तत्काल एक्शन में आई और बीएसएफ के जवान राहुल को बरामद कर लिया गया. इसके बाद उसके परिवार वालों को बुलाकर उनके सुपुर्द कर दिया गया. अब परिवार के लोग राहुल को नौकरी पर वापस लौटने और नया जीवन शुरू करने के लिए समझा रहे हैं.
.Tags: Jhansi news, Local18, Uttar Pradesh News HindiFIRST PUBLISHED : February 11, 2024, 18:54 IST



Source link