bay leaf benefits for chest cough to heart health know how to make bay leaf water nsmp | सीने की जकड़न से लेकर हार्ट हेल्थ के लिए रामबाण है तेज पत्ते का पानी, इस तरह बनाएं



Bay Leaf Water Benefits: जब भी हमें भोजन को अलग जायका देना होता है, तो इसमें कुछ विशेष प्रकार के मसालों को मिक्स किया जाता हैं. मसालों में तेज पत्ते का नाम आपने सुना ही होगा और इसे इस्तेमाल भी किया होगा. आपको बता दें, तेज पत्ता (bay leaf) एक ऐसी जड़ी बूटी है, जिसे हम खाना बनाने में खूब करते हैं. इसमें गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम को बढ़ावा देने वाले एंजाइम्स पाए जाते हैं. इससे खाना पचाने, सूजन, कब्ज और दस्त जैसी समस्याओं से बचाव होता है. लेकिन आपने कभी तेज पत्ते का पानी पिया है? आज हम आपको बताएंगे तेज का पानी पीने के क्या फायदे (bay leaf water benefits) हो सकते हैं. इसके साथ ही इसे बनाने का तरीका भी जानेंगे….
ऐसे बनाएं तेज पत्ते का पानी (How To Prepare Bay Leaf Water)तेज पत्ते का पानी बनाने के लिए आपको अधिक मेहनत नहीं लगेगी. इसके लिए सिर्फ आपको 2 कप पानी लेना है और इसमें 5 तेज पत्ते डालकर उबाल लेना है. पानी को उतनी देर उबालें जब तक वह 1 कप न तैयार हो जाए. फिर ऊपर से हल्का सा नमक मिलाकर इसका सेवन करें.
तेजपत्ते का पानी पीने के लाभ (Bay Leaf Water Benefits) 
1. फैटी लिव- अगर आपको फैटी लिवर की समस्या है तो इसमें तेज पत्ते का पानी काफी असरदार साबित हो सकता है. इसके इस्तेमाल से लिवर के स्वास्थ्य में सुधार होता है. इसका पानी पीने से लिवर डिटॉक्स होता है और यह ये पेशाब को उत्तेजित करता है.  
2. सीने में जकड़न- तेज पत्ते के सेवन से श्वसन तंत्र को लाभ पहुंचता है. ये असल में एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है, जो विभिन्न श्वसन संक्रमण और बीमारियों से बचाव करता है. साथ ही सर्दियों में इसे पीने से छाती में गर्मी बनी रहती है. ये कफ को ढीला करता है और उसे बाहर निकालने में मदद करता है.
3. हार्ट हेल्थ- तेज पत्ते के पानी का सेवन करने से हृदय की केशिकाओं की दीवारें मजबूत होती हैं, जबकि एलडीएल या खराब कोलेस्ट्रॉल कम होते हैं. इस प्रकार से तेज पत्ते का पानी दिल की सेहत के लिए कई प्रकार से फायदेमंद होता है.
4. डायबिटीज- तेज पत्ते का पानी पीने से डायबिटीज कंट्रोल में रहता है. ये शरीर में इंसुलिन बढ़ाकर शुगर स्पाइक को रोकने में मदद करता है. इसके अलावा, तेज पत्ते में पाए जाने वाले फाइटोकेमिकल्स इंसुलिन रिसेप्टर फंक्शन में सुधार करके डायबिटीज कंट्रोल करने में मददगार है. 
(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी घरेलू नुस्खों और सामान्य जानकारियों पर आधारित है. इसे अपनाने से पहले चिकित्सीय सलाह जरूर लें. ZEE NEWS इसकी पुष्टि नहीं करता है.)
भारत की पहली पसंद ZeeHindi.com – अब किसी और की ज़रूरत नहीं



Source link