अमेठी में मनरेगा योजना से बदली महिलाओं की तकदीर, परिवार का कर रहीं भरण-पोषण



अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी में महिलाओं के लिए मनरेगा योजना भरण-पोषण का साधन बनी है. मनरेगा योजना में जुड़कर महिलाएं घर की जिम्मेदारियों को संभालने के साथ-साथ गांव के विकास कार्यों में भी अपना सहयोग कर रही हैं. सैकड़ों की संख्या में महिलाएं मनरेगा योजना में अलग-अलग विकास कार्य में अपनी सहभागिता दे रही हैं. श्रम के जरिए मिलने वाले मानदेय से वो अपने परिवार को चला रही हैं और आत्मनिर्भर भारत की ओर कदम बढ़ा रही हैं.दरअसल अमेठी में राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना मनरेगा के तहत सरकार महिलाओं को आत्मनिर्भर बना रही है. महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देते हुए सरकार ने वर्ष 2022 में 791 महिलाओं का चयन किया था. इनमें से 398 महिलाएं वर्तमान समय में मनरेगा योजना में काम कर रही हैं. आंकड़ों की बात करें तो पूरे जनपद में 682 ग्राम पंचायतों में इस वर्ष भी लगभग 41,292 महिलाओं को अब तक चयनित किया गया है. उन्हें आगे रोजगार देने की कवायद है. मनरेगा योजना में विकास कार्य में सहभागिता के लिए महिलाओं से काम लिया जाता है. इसके बदले उन्हें निर्धारित मानदेय दिया जाता है.मनरेगा योजना महिलाएं को बना रहा आर्थिक सुदृढ़  मनरेगा में काम करने वाली श्रीमती देवी ने बताया कि मनरेगा योजना काफी अच्छी योजना है. इससे हमारे परिवार का भरण पोषण चल रहा है. सरकार हमें काम दे रही है और काम के बदले हमें पैसा मिलता है. इससे बच्चों की पढ़ाई भी हो जा रही है और हमारे परिवार का खर्च भी चलता है. यह काफी अच्छी योजना है. हम घर के कार्यों को करने के साथ-साथ गांव के विकास कार्यों में भी अपना सहयोग कर रहे हैं.वहीं, एक अन्य महिला ने बताया कि मनरेगा योजना से महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिल रहा है. सरकार महिलाओं को काम दे रही है. मनरेगा योजना बहुत अच्छी है. इससे हम सब को काफी फायदा पहुंच रहा है.मनरेगा में काम के बदले मिलता है निर्धारित मानदेय मनरेगा योजना के जिला प्रभारी सुनील तिवारी ने बताया कि मनरेगा योजना के जरिए मेहनती महिलाओं को चिन्हित कर उन्हें रोजगार दिया जाता है. काम के बदले उन्हें सरकार के द्वारा निर्धारित मानदेय दिया जाता है. अलग-अलग समय में विकास कार्यों में महिलाओं से सहयोग लिया जाता है. इससे महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा भी मिल रहा है.ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|FIRST PUBLISHED : January 17, 2023, 21:05 IST



Source link