आखिर क्यों भारतीय टेस्ट टीम चुनने में देरी कर रहे हैं सेलेक्टर्स? यहां फंस गया है पेंच| Hindi News



India vs England: भारत पहले ही चोटों की समस्या से जूझ रहा है क्योंकि उसके मुख्य खिलाड़ी केएल राहुल और रविंद्र जडेजा चोटिल हैं. स्टार बल्लेबाज विराट कोहली निजी कारणों से पहले दो टेस्ट में नहीं खेल पाए थे और उनके राजकोट और रांची में होने वाले मुकाबलों के लिए भी उपलब्ध होने की संभावना नहीं है.
टीम चुनने में देरी क्यों कर रहे सेलेक्टर्स?भारतीय चयनकर्ताओं को अभी अंतिम तीन टेस्ट के लिए टीम की घोषणा करनी है और वे जडेजा की फिटनेस पर स्पष्टता के बाद ही ऐसा करेंगे. ऑलराउंडर जडेजा को इसके लिए बेंगलुरु में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में फिटनेस जांच में पास होना होगा. वह हैमस्ट्रिंग चोट की वजह से विशाखापत्तनम टेस्ट में नहीं खेल पाए थे जबकि राहुल ने दर्द की शिकायत की थी.
11 फरवरी को राजकोट पहुंचेंगे भारतीय खिलाड़ी
अगर रविंद्र जडेजा और केएल राहुल दोनों प्लेइंग इलेवन में वापसी करते हैं तो श्रेयस अय्यर की चोट से रजत पाटीदार को एक और मौका मिल सकता है. पाटीदार विशाखापत्तनम में टेस्ट डेब्यू के दौरान प्रभावित नहीं कर सके थे. पांच मैच की सीरीज अभी 1-1 की बराबरी पर है. भारतीय खिलाड़ी 11 फरवरी को राजकोट पहुंचेंगे और इंग्लैंड के एक दिन बाद वहां पहुंचने की उम्मीद है.
श्रेयस अय्यर को कमर में खिंचाव
श्रेयस अय्यर के कमर और ‘ग्रोइन’ में खिंचाव की शिकायत के बाद उनके इंग्लैंड के खिलाफ बची हुई टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम में चुने जाने की संभावना नहीं है. श्रेयस अय्यर को पीठ में लगातार परेशानी हो रही है जिसके लिए उन्होंने पिछले साल सर्जरी भी कराई थी. श्रेयस अय्यर (29 वर्ष) ने हैदराबाद और विशाखापत्तनम में पहले दो टेस्ट में 35, 13, 27 और 29 रन की पारी खेली थी. वह अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा पाए थे. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के एक सूत्र ने पीटीआई को बताया, ‘श्रेयस अय्यर ने खिंचाव और कमर में दर्द की शिकायत की है तथा उनके सीरीज के बचे हुए हिस्से में खेलने की संभावना नहीं है.’



Source link