48 घंटों तक नहीं मिलेगी काशी को जहरीली हवाओं से निजात, एक्सपर्ट से जानें पूरा सच



अभिषेक जायसवाल/वाराणसी: दिवाली के बाद वाराणसी के आबोहवा भी खराब हो गई. शहर के भीड़भाड़ वाले इलाकों में दिवाली के बाद से एयर क्वालिटी इंडेक्स खराब स्तर पर पहुंच गया था. शहरके मलदहिया और आस पास का क्षेत्र इसका सबसे बड़ा हॉट स्पॉट बन गया था. लेकिन अब धीरे-धीरे लोगों को इससे निजात मिलने लगी हैं. ऐसे में सवाल है कि वाराणसी के लोगों को कब तक पूरी तरह इस जहरीली हवाओं से राहत मिलेगी.बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी के एक्सपर्ट डॉ. मनोज कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदूषण का सबसे बड़ा केंद्र वाराणसी के मध्य शहर था जहां एयर क्वालिटी इंडेक्स का लेवल खतरनाक स्तर तक पहुंच गया था. लेकिन ज्यादा दिन तक इसका प्रभाव नहीं देखने को मिलेगा.16 नवंबर के बाद स्थिति में होगा सुधारडॉ. मनोज कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि अभी हवाएं पश्चिमी ओर से बह रही है इसलिए पटाखों के कारण हुए प्रदूषण का स्तर 48 से 72 घंटों तक रहेगा. उसके बाद धीरे-धीरे स्थिति सामान्य हो जाएगी. उम्मीद हैं कि 16 नवंबर के बाद फिर से एयर क्वालिटी इंडेक्स ग्रीन जोन में पहुंच जाएगा. प्रदूषण की स्थिति में काफी हद तक सुधार पिछले दिनों लखनऊ और आस पास के क्षेत्र में हुए बारिश के कारण हुआ था. हालांकि दिल्ली की आबोहवा अभी खराब है लेकिन उसका बहुत ज्यादा असर यहां नहीं देखने को मिलेगा.48 घंटों तक जारी रहेगा उतार-चढ़ावपश्चिमी विक्षोभ के कारण अगले 48 घंटों तक प्रदूषण के स्तर पर थोड़ा बहुत उतार-चढ़ाव देखा जा सकता है. उसके बाद स्तिथि एक दम पहले जैसा स्टेबल हो जाएगा..FIRST PUBLISHED : November 14, 2023, 19:15 IST



Source link