team india lost world cup 2023 final to australia top 5 reason you should know

[ad_1]

World Cup 2023 Winner: वर्ल्ड कप 2023 में फाइनल के दिन से पहले तक टीम इंडिया जिस ब्रांड क्रिकेट को खेल रही थी, शायद सबको यकीन हो चला था कि यही वो टीम है जिसे वर्ल्ड कप जीतना चाहिए. लेकिन 5 बार की वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया कुछ और हो सोचकर फाइनल खेलने उतरी थी. और वही हुआ भी, ऑस्ट्रेलिया टीम ने भारत के करोड़ों फैंस का सपना चकनाचूर कर दिया है. उसने टीम इंडिया को 6 विकेट से हराकर ट्रॉफी उठा ली है. यह हार लंबे समय तक टीम इंडिया को चुभेगी क्योंकि शायद रवि शास्त्री ने वो बात सही कही थी कि इस समय टीम के कई दिग्गज अपने सर्वोच्च फॉर्म में हैं. आइए उन पांच कारणों पर नजर डालते हैं जिनकी वजह से कहा जा सकता है कि टीम इंडिया फाइनल में हार गई है.
1- शुभमन गिल का जल्दी आउट होना
मैच जब शुरू हुआ तो रोहित शर्मा अपने चिर परिचित अंदाज में नजर आए और उन्होंने ताबड़तोड़ बैटिंग की. उधर शुभमन गिल अपनी तैयारी शुरू ही कर रहे थे कि तभी वे आसान कैच थमाकर वापस लौट गए. ये वो मोमेंट था जब उन्हें रुककर रोहित का साथ देना था. पहला विकेट गिरते ऑस्ट्रेलिया ,मैच पर चढ़ गई और आखिरी तक बनी रही. गिल केवल 4 रन बनाकर आउट हो गए. उन्होंने 7 गेंदों का सामना किया था. 
2- रोहित शर्मा का विकेट/ ट्रेविस हेड का कैचपूरे वर्ल्ड कप में रोहित शर्मा का बल्ला धूम मचाकर चला और इस मैच में भी वही हुआ लेकिन वे बहुत ही तेजी से रन बनाने के चक्कर में पार्टटाइम गेंदबा मैक्सवेल  ख़राब शॉट खेलकर आउट हो गए. उनका कैच ट्रेविस हेड ने लिया. कायदे से देखा जाए तो यह विकेट ट्रेविस हेड का ही है क्योंकि उन्होंने शानदार कैच लिया था. यह मैच का सबसे बड़ा टर्निंग मोमेंट था जब रोहित आउट हुए.
3- श्रेयस अय्यर का विकेट/ सूर्यकुमार यादव की बल्लेबाजीजबरदस्त फॉर्म में चल रहे श्रेयस अय्यर का विकेट जल्दी में गिरना काफी महंगा पड़ गया. उन्होंने जीसर तरह सेमीफाइनल और उससे पहले के मैचों में अपनी जबरदस्त बैटिंग दिखाई, उससे उम्मीद थी कि वे बड़ा स्कोर करेंगे लेकिन ऐसा ना हो सका. इसके बाद सूर्यकुमार यादव की बैटिंग शायद ही किसी को पसंद आई होगी. अच्छी गेंदबाजी और पिच के व्यवहार के बावजूद सूर्यकुमार यादव तेज बैटिंग के लिए जाने जाते हैं, वे उस समय सिंगल ले रहे थे जब उन्हें बड़ा हिट करना था.
4- भारतीय गेंदबाजों की फीकी गेंदबाजी/ टीम की फील्डिंग240 का स्कोर खड़ा करने के बाद टीम इंडिया को शायद अपने गेंदबाजों से उम्मीद रही होगी कि वे संभाल लेंगे. लेकिन शुरुआती कुछ ओवर्स को छोड़ दिया जाए तो भारतीय गेंदबाजों ने काफी फीकी गेंदबाजी की है. स्पिनर्स भी नहीं चले और विकेट लेने में संघर्ष करते दिखाई दिए. इसके अलावा भारतीय टीम की फील्डिंग भी निराशाजनक रही है. स्लिप में कैच नहीं लिया गया. साथ ही केएल राहुल ने भी चांस छोड़ दिए.
5- ऑस्ट्रेलिया की अटैकिंग क्रिकेटइस मैच की एक और खास बात यह रही कि ऑस्ट्रेलिया टीम ने बहुत आक्रामक क्रिकेट दिखाया. उनकी बैटिंग बॉलिंग और फील्डिंग कमाल की रही. ऑस्ट्रेलिया टीम की बॉडी लैंग्वेज कमाल की दिख रही थी. इसके उलट टीम इंडिया शुरू से ही दबाव में दिखाई दी और अंत तक वैसे ही बना रहा.

[ad_2]

Source link