कुल्हड़ में कुल्फी नहीं… यहां मिलती है कढ़ी, 45 साल पुराना अंदाज, चावल के साथ लोग लेते हैं स्वाद

[ad_1]

निखिल त्यागी/सहारनपुर. इस शहर के लोगों को खाने में तीखा व चटपटा बहुत पसंद है. इसी वजह से यहां कई दुकानों पर स्वादिष्ट और चटपटे व्यंजन मिलते हैं, जहां ग्रामीण क्षेत्र से भी लोग आकर स्वाद का आनंद लेते हैं. सहारनपुर के रेलवे रोड स्थित पाली की दुकान कढ़ी चावल के लिए प्रसिद्ध है. यहां का कढ़ी-चावल जितना स्वादिष्ट है, उतना ही उसके परोसने का तरीका अनोखा है. यहां कढ़ी मिट्टी के कुल्हड़ में दी जाती है, जो उसके स्वाद को और बढ़ा देता है.

दुकान मालिक सचिन सैनी ने बताया कि रेलवे रोड पर हमारे पिताजी ने रेहड़ी पर कढ़ी चावल का काम शुरू किया था. करीब 45 वर्षों बाद आज भी यह दुकान के रूप में रेलवे रोड पर चल रही है. यहां पर बनने वाले व्यंजनों में हम घर में तैयार मसाले का प्रयोग करते हैं. इसलिए हमारी दुकान के कढ़ी चावल सहित सभी व्यंजनों का अलग ही स्वाद मिलता है. बताया कि पिताजी के बाद विरासत के तौर पर उनके पुत्र के रूप में हमने यह काम अब भी जारी रखा हुआ है.

मसालों और हाथ का करिश्मासचिन ने बताया कि पिताजी ने जिस काम को शुरू किया था, आज वह कढ़ी चावल के बाद अन्य व्यंजनों के लिए भी प्रसिद्ध हो चुका है. सचिन ने बताया कि कढ़ी चावल के अलावा छोले चावल, छोले राजमा, छोले खस्ता, आलू पुरी, छोले भटूरे, आइसक्रीम व मिठाई भी हमारी दुकान पर ग्राहकों की पसंद है. बताया कि खुद के मसालों से तैयार व्यंजन में हाथ का भी करिश्मा है, जो इतना स्वादिष्ट भोजन मिलता है.

मिट्टी के बर्तन में मिलता है खानारेलवे रोड पर सूर्य लोक होटल के सामने पाली की दुकान पर कढ़ी चावल खाने आए रोहित ने बताया कि इस दुकान पर मिलने वाले खाने में घर जैसा स्वाद है. बताया, शुरू से पाली की दुकान पर अधिकतर मिट्टी के बर्तनों में खाना दिया जाता है, जिसका स्वाद सबसे अलग होता है. सचिन सैनी ने बताया कि मिट्टी के कुल्लड़ में हमारे पिताजी ने कढ़ी देनी शुरू की थी, तब से यह प्रचलन अभी तक चल रहा है. इसी स्वाद के कारण ही यहां पर हर समय ग्राहकों की भीड़ लगी रहती है.
.Tags: Food 18, Local18, Saharanpur news, Street FoodFIRST PUBLISHED : October 3, 2023, 23:34 IST

[ad_2]

Source link