Reason behind burning sensation while urine is this a sign of some serious disease unique story | किन कारणों की वजह ये यूरिन करते समय होती है जलन? कहीं ये कोई गंभीर बीमारी का संकेत तो नहीं?

[ad_1]

Pain during urine: पेशाब करते समय कई बार अचानक से जलन महसूस होने लगती है. ज्यादातर मामलों में कोई बड़ी वजह नहीं होती. खान-पान व जीवनशैली में कुछ बदलावों से यह समस्या कुछ समय में ठीक हो जाती है. पर, घरेलू उपायों के बावजूद लंबे समय तक ऐसा है तो डॉक्टर के पास जाना जरूरी है. आज हम जानेंगे कि यूरिन करते वक्त जलन किस बीमारी का संकेत हो सकता है या किन कारणों की वजह से होता है.
पेशाब करते समय जलन एक इंफेक्शन का भी संकेत हो सकता है, जिसे यूरिनरी इंफेक्शन (UTI) कहा जाता है. UTI के लक्षणों में जलन, पेशाब के साथ दर्द, यूरिन के साथ खून, और पेशाब बार-बार आने की इच्छा शामिल हो सकती है. पेशाब करते समय जलन का कारण शरीर के यूरिनरी सिस्टम की स्थानिक संरचना में समस्या हो सकती है, जैसे कि किडनी स्टोन या इन्फ्लेमेशन.
यूरिन करते वक्त जलन के अन्य कारण
पानी की कमी: शरीर में पानी की कमी होना पेशाब में जलन कर सकता है. कम पानी पीने पर पेशाब गाढ़ा हो जाता है, उसमें टॉक्सिन्स व खनिज की मात्रा बढ़ जाती है, जो ब्लैडर की सतह को प्रभावित करते हैं.
हाई एसिड वाली चीजें: हाई एसिड व कैफीन युक्त चीजें अधिक लेना पेशाब में जलन कर सकता है. मूत्राशय की सतह के अलावा लंबे समय तक ऐसा रहना ब्लैडर व आंतों की प्रक्रिया काबू करने वाले तंत्रिका तंत्र को भी नुकसान पहुंचा सकता है.
धूम्रपान और शराब का सेवन: धूम्रपान मूत्राशय पर असर डालता है. निकोटिन की अधिकता के कारण पेशाब करते समय जलन हो सकती है. वहीं, शराब मूत्रवर्धक होती है, इससे पेशाब अधिक आता है. धूम्रपान और शराब की अधिकता से डिहाइड्रेशन हो जाता है, जिससे पेशाब करते समय जलन व दर्द होता है.
इन बातों का रखें ध्यान- पेशाब को देर तक नहीं रोकें.- पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं. अंदरूनी हिस्सों को साफ व सूखा रखें. पेशाब व शौच के बाद हाथ साफ पानी से जरूर साफ करें.- नारियल व क्रैनबेरी जूस पीना इसके होने की आशंका कम करता है.- प्रोबायोटिक्स लें. इससे पाचन संतुलित रहता है व आंतों में सेहतमंद बैक्टीरिया बढ़ जाते हैं. दही व खमीर युक्त चीजें अधिक खाएं- हरी पत्तेदार सब्जियां, विटामिन सी युक्त रसदार फल खाएं. आहार में फाइबर युक्त चीजों का सेवन करें, इससे आंतों में गंदगी देर तक नहीं रुकती.
Disclaimer: प्रिय पाठक, हमारी यह खबर पढ़ने के लिए शुक्रिया. यह खबर आपको केवल जागरूक करने के मकसद से लिखी गई है. हमने इसको लिखने में घरेलू नुस्खों और सामान्य जानकारियों की मदद ली है. आप कहीं भी कुछ भी अपनी सेहत से जुड़ा पढ़ें तो उसे अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

[ad_2]

Source link