Kangana Ranaut defamation case by Javed Akhtar hearing, kangana ranaut looses faith in court files extortion case | Kangana Ranaut के वकील ने कहा- एक्ट्रेस को नहीं कोर्ट पर भरोसा, Javed Akhtar पर लगाया जबरन वसूली का आरोप

[ad_1]

मुंबईः गीतकार जावेद अख्तर (Javed Akhtar) ने बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराया था. आज यानी सोमवार को कंगना रनौत की कोर्ट में पेशी थी, जिसके चलते कंगना रनौत कोर्ट पहुंचीं. अंधेरी कोर्ट में कंगना की पेशी हुई. इस मामले में 15 नवंबर को अगली सुनवाई होगी. कंगना के वकील का कहना है कि कंगना रनौत को अंधेरी कोर्ट पर भरोसा नहीं है. वकील रिजवान सिद्दीकी ने कहा कि केस को ट्रांसफर करने की अपील करेंगे.
जावेद अख्तर पर लगाया आरोप 
इसके अलावा कंगना रनौत ने भी जावेद अख्तर (Javed Akhtar) के ऊपर एक्सटॉर्शन की धारा 384 के तहत शिकायत की है. इस मामले की सुनवाई 1 अक्टूबर को होनी है. इस मामले में कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के वकील रिजवान सिद्दीकी ने कहा, ‘कंगना की शिकायत काफी पुरानी है. कंगना और रंगोली को बिना वजह जावेद अख्तर के घर बुलाया गया, उन्हें धमकाया गया था लेकिन कंगना ने कभी इसकी शिकायत दर्ज नहीं करवाई थी. इसे आज हमने कोर्ट में दाखिल किया है. कोर्ट ने 2 बार कंगना को धमकाया था कि उसके खिलाफ अरेस्ट वारंट इशू किया था. कोर्ट ने बिना वजह कंगना को अदालत में बुलाया जबकि उसकी कोई वजह नहीं थी. ये जानते हुए भी की कोर्ट में मीडिया मौजूद है उनकी इमेज खराब हो सकती है. हम इस जज के सामने हाजिर नहीं होना चाहते हैं.’
पहले कंगना नहीं हुई थीं हाजिर
पिछली सुनवाई में कंगना कोर्ट में हाजिर नहीं हुईं थीं. उनके वकील ने उनके हाजिर न होने की वजह उनकी खराब तबीयत बताई थी. तब मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत ने कंगना (Kangana Ranaut) की हेल्थ को ध्यान में रखते हुए मानहानि केस की सुनवाई में पेश होने से छूट दे दी थी. इसके, साथ ही कोर्ट ने यह भी कहा था कि अगर वह अगली सुनवाई में पेश नहीं होती हैं तो उनके खिलाफ अरेस्ट वॉरंट जारी किया जा सकता है. इस वजह से कंगना रनौत इस केस में फंसती नजर आई थीं. 
कोर्ट ने लगाई थी फटकार
बीती 14 सितंबर को हुई सुनवाई में कंगना (Kangana Ranaut) के नहीं आने पर कोर्ट ने तीखे शब्दों का प्रयोग किया था. सुनवाई में कंगना के वकील रिजवान सिद्दीकी ने कंगना की मेडिकल रिपोर्ट पेश की थी, जिसमें बताया गया था कि कोरोना संक्रमण के लक्षण नजर आ रहे हैं. इसी वजह से वो कोर्ट में पेश नहीं हो सकी थीं. कंगना के वकील ने कहा कि अपनी फिल्म ‘थलाइवी’ के प्रमोशन के चलते वह बीते 15 दिनों में कई लोगों से मिलीं, जिसकी वजह से ऐसे लक्षण दिखे. ऐसे में उनके वकील ने 7 दिन को मोहलत मांगी थी. 
बता दें, 14 सितंबर की सुनवाई में कंगना (Kangana Ranaut)  के वकील रिजवान सिद्दीकी ने कंगना की मेडिकल रिपोर्ट पेश करते हुए कहा था कि उनमें कोरोना वायरस के लक्षण नजर आ रहे हैं. जिसके चलते वह कोर्ट में पेश नहीं हुईं. कंगना के वकील ने कहा कि अपनी फिल्म ‘थलाइवी’ के प्रमोशन के चलते वह बीते 15 दिनों में कई लोगों से मिलीं. इसके कारण एक्ट्रेस के वकील ने 7 दिनों का समय मांगा था.
ये है पूरा मामला
गौरतलब है कि जावेद अख्तर ने कंगना रनौत के खिलाफ एक टीवी इंटरव्यू में कथित रूप से मानहानिकारक टिप्पणी करने का आरोप लगाया था. जावेद अख्तर (Javed Akhtar) ने बेबुनियाद आरोप लगाने को लेकर पिछले साल नवंबर में अंधेरी मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के समक्ष शिकायत दर्ज कराई थी. मजिस्ट्रेट कोर्ट ने दिसंबर 2020 में जुहू पुलिस को कंगना के खिलाफ शिकायत की जांच करने का निर्देश दिया था और फिर उनके खिलाफ केस की जांच शुरू हुई. इस साल फरवरी में एक्ट्रेस के खिलाफ समन जारी किया गया था. अख्तर ने अपनी शिकायत में दावा किया कि पिछले साल जून में सुशांत सिंह राजपूत निधन के बाद कंगना ने एक इंटरव्यू दिया था, जिसमें जावेद अख्तर का नाम घसीटा था.

[ad_2]

Source link